Click to Download this video!

ऑफिस की नशीली चूत का आनंद


office sex stories, antarvasna

मेरा नाम गौरव है मेरी उम्र 35 वर्ष है और मैं एक शादीशुदा पुरुष हूं, मेरी शादी को 6 वर्ष हो चुके हैं और मेरी पत्नी से मेरी बिल्कुल भी नहीं बनती क्योंकि इन 6 वर्षों में उसके अंदर बहुत ही बदलाव आया है, मैं उसके इस बदलाव से बहुत परेशान हूं। मैंने कई बार उससे इस बारे में बात भी की लेकिन वह मुझसे बिल्कुल भी बात नहीं करना चाहती और छोटी-छोटी बातों पर वह झगड़ा कर लेती है। मैंने उसे कई बार कहा कि तुम बहुत ही बदल चुकी हो। हम दोनों ने लव मैरिज की थी और मैंने अपने घर वालों से भी अपनी पत्नी के लिए झगड़ा किया था क्योंकि वह बिल्कुल नहीं चाहते थे कि मैं उससे शादी करूं। मैं एक अच्छे घर से हूं और मेरे पिता एक बिजनेसमैन थे और मैं उनका ही काम संभाल रहा हूं। वह मुझे हमेशा ही मना करते रहे लेकिन मैंने उनकी एक ना सुनी और मैंने उससे शादी कर ली परंतु अब मुझे एहसास होता है कि मैंने यह शादी करके गलती कर दी।

मुझे अपने माता पिता की बात मान लेनी चाहिए थी और जिस लड़की से वह कहते उसी से मुझे शादी कर लेनी चाहिए थी परंतु अब मैंने शादी कर ली है, मैं अपनी शादी से बिल्कुल भी खुश नहीं हूं। मेरी पत्नी को बहुत ही पार्टियों का शौक है और वह मुझे बिल्कुल भी वक्त नहीं देती। मैं अपने काम में बिजी रहने के बावजूद भी कुछ वक्त निकाल लेता हूं ताकि उसे इस बात का बुरा ना लगे, परंतु जब भी मैं घर पर होता हूं तो वह कुछ ना कुछ बहाने कर के घर से चली जाती है, यह मुझे बहुत ही बुरा लगता है। कई बार मैं सोचता हूं कि मुझे इस बारे में सोचना ही नहीं चाहिए इसलिए मैंने अब इस बारे में सोचना ही छोड़ दिया है और मैं अपनी पत्नी से भी बहुत कम बात करता हूं। वह मुझसे सिर्फ उसी वक्त बात करती है जब उसे कुछ आवश्यकता होती है। मैं अपने बिजनेस को बहुत अच्छे से चला रहा हूं, यह काम मेरे पिताजी ने शुरू किया था लेकिन मैंने इसे बहुत ऊंचाइयों पर पहुंचा दिया और मेरे पिता भी इस बात से बहुत खुश हैं। कई बार वह मुझसे इस बारे में भी जिक्र करते हैं कि यदि तुम अपने रिलेशन से खुश नहीं हो तो तुम किसी और लड़की से शादी कर लो लेकिन मैं उन्हें कहता हूं कि मैं इस बारे में नहीं सोचता हूं और सिर्फ अपने काम पर ही मैं ध्यान देता हूं।

हमारे ऑफिस में एक नई लड़की आई, मैंने ही उसे फोन किया था और उसका नाम कावेरी है। वह दिखने में भी बहुत सुंदर है और काम करने में भी बहुत एक्टिव है। वह काम में अपना हमेशा ही सौ प्रतिशत देती है इसलिए वह काम को अच्छे से कर पाती है। मैं हमेशा ही उसके काम की तारीफ करता हूं, वह भी मुझसे बहुत खुश रहती है लेकिन मैंने उसे कभी भी अपने दिल की बात नहीं कही वह मुझे बहुत अच्छी लगती है। कावेरी जब भी मेरे साथ बैठी होती है तो मुझे बहुत अच्छा लगता है क्योंकि वह जिस प्रकार से बात करती है मुझे उससे बात करना बहुत ही अच्छा लगता है। मैंने एक बार कावेरी से कहा कि यदि तुम मेरे साथ डिनर पर चलो तो मुझे बहुत खुशी होगी। वह कहने लगी कि यह तो मेरे लिए बहुत बड़ी बात होगी यदि आप मुझे डिनर पर इनवाइट करेंगे। मैंने उसे कहा कि ठीक है, अगले हफ्ते हम लोग डिनर पर चलेंगे और मैं तुम्हें इन्फॉर्म कर दूंगा। मुझे कावेरी के साथ समय बिताना बहुत ही अच्छा लगता है और वह हमारे ऑफिस की सबसे अच्छी एंप्लॉय है। मैंने अगले हफ्ते उसे कहा कि आज हम लोग किसी अच्छी जगह चलते हैं, वह कहने लगी ठीक है। मैंने शाम को उसे अपने साथ चलने के लिए कहा और उसके बाद मैंने अपनी कार पार्किंग से निकाली और कावेरी मेरे साथ ही बैठी हुई थी। हम लोग रास्ते पर बहुत बातें कर रहे थे और मुझे उससे बात करना अच्छा लग रहा था। हम दोनों के बीच में कभी अपनी पर्सनल लाइफ को लेकर बात नहीं हुई थी। मैंने कावेरी से पूछा कि क्या तुम्हारा कोई बॉयफ्रेंड है, वह कहने लगी पहले मेरा एक बॉयफ्रेंड था लेकिन अब मैं सिंगल हूं और मैं सिंगल ही बहुत खुश हूं। कावेरी भी मुझसे पूछने लगी कि सर आपकी भी तो शादी हो चुकी है, आपका रिलेशन कैसा चल रहा है। मैंने उसे उस वक्त कुछ भी नहीं बताया और जब हम लोग होटल में पहुंच गए,  उसके बाद हम लोग एक रेस्टोरेंट में बैठे हुए थे और साथ में बैठ कर बात कर रहे थे।

उस वक्त मैंने उसे बताया कि मैं अपने रिलेशन से बिल्कुल भी खुश नहीं हूं। मेरी लव मैरिज हुई थी लेकिन मेरी पत्नी अब बदल चुकी है और उसे मेरी कोई भी फिक्र नहीं है। जब यह बात कावेरी ने सुनी तो वह कहने लगी कि सर आप तो बहुत ही अच्छे हैं और यदि आपकी पत्नी आपकी भावनाओं की कदर नहीं कर पा रही तो यह अच्छा नहीं है। मैंने उसे कहा कि वह मुझे बिल्कुल भी प्यार नहीं करती और ना ही अब हम दोनों साथ में समय बिताते हैं इसीलिए मुझे उसके साथ रहना भी पसंद नहीं है। मेरे घर वालों ने तो मुझे उससे डिवोर्स लेने को कह दिया है, परंतु फिर भी मैं जबर्दस्ती रिलेशन को चला रहा हूं लेकिन मैं अपने रिलेशन से बिल्कुल भी खुश नहीं हूं। जब यह बात मैंने कावेरी को बताई तो मुझे बहुत हल्का महसूस हुआ क्योंकि मैंने यह बात किसी को भी नहीं बताई थी। कावेरी मेरी बात बहुत ध्यान से सुन रही थी और मेरे साथ ही बैठी हुई थी। हम दोनों डिनर करने के बाद कुछ देर साथ में ही बैठे हुए थे और बातें कर रहे थे। मैंने बात करते-करते कावेरी का हाथ पकड़ लिया जब मैने कावेरी का हाथ पकड़ा तो उसे भी अच्छा लगने लगा और उसने भी अपने दूसरे हाथ से मेरे हाथ को दबाना शुरू कर दिया। उसके शरीर से गर्मी निकलने लगी थी और मैंने उसकी जांघ पर अपने हाथ को रखा तो वह मचलने लगी।

मैं समझ गया कि यह मुझसे चूदने के लिए तैयार है। मैंने होटल में ही रूम बुक कर लिया और उसे अपने साथ कमरे में ले गया। मैंने कावेरी के होठों को अपने होठो में लेकर चूसने शुरू कर दिया और उसे भी बड़ा मजा आ रहा था उसने भी मेरा होठों को अच्छे से चूसना शुरू कर दिया उसने मेरे होठो से खून निकाल दिया। वह पूरी उत्तेजना में थी और मैंने जब उसे नंगा किया तो उसका बदन देख कर मुझे अच्छा महसूस होने लगा। उसके स्तन बहुत बड़े थे और उसकी गांड का साइज भी काफी बड़ा था मैंने उसके स्तनों को अपने मुंह में ले लिया और अच्छे से चूसने लगा। मैंने उसके स्तनों को काफी देर तक चूसा मैंने उसके स्तनों से खून भी निकाल दिया था। मैंने उसे लेटा दिया और उसके स्तनों पर अपने लंड को रगडने लगा। मेरा लंड पूरा खड़ा था और मैंने कावेरी के मुंह में डाल दिया। कावेरी ने बहुत अच्छे से मेरे लंड को सकिंग किया जिससे कि मेरा पानी निकलने लगा मुझे अब बहुत मजा आने लगा। मैंने उसके दोनों पैरों को चौड़ा किया और जब मैंने अपने लंड को उसकी चूत मे डाला तो वह चिल्लाने लगी और अपने दोनों पैरों को चौड़ा करने लगी। मैंने उसे बड़ी तेजी से धक्के मारे जिससे कि मेरा लंड उसकी चूत के पूरे अंदर चला जाता। वह मुझे कहती कि तुम मुझे बड़े अच्छे से चोद रहे हो और उसकी योनि से खून निकल रहा था। उसकी योनि बहुत ज्यादा टाइट थी इसलिए मुझे उसे चोदने में बहुत मजा आ रहा था जैसे ही मेरा वीर्य गिरा तो मुझे बड़ा अच्छा लगा। उसके बाद उसने अपनी  योनि से मेरे वीर्य को साफ किया और वह मेरे ऊपर आकर बैठ गई। उसने मेरे लंड को अपने अंदर ले लिया अब वह अपनी चूतड़ों को मेरे लंड पर हिलाए जा जा रही थी। मुझे बहुत अच्छा महसूस हो रहा था और मैं भी उसे बड़ी तेज तेज धक्के दे रहा था। उसने अपनी चूतड़ों को इतने जोर जोर से हिलाया की उसकी चूतडे मुझसे टकराती तो उनसे एक अलग ही प्रकार की आवाज निकल रही थी। मेरे भी अंदर की गर्मी बाहर आने लगी थी मैंने उसे तेज झटके मारे। जब मेरा वीर्य गिरने वाला था तो मैंने उसे झटके से उठाकर अपने नीचे लेटा दिया मैंने बड़ी तेजी से उसकी योनि के अंदर अपने माल को गिरा दिया।


error:

Online porn video at mobile phone


www desi chootsex ki kahani hindi memummy ko choda new storyaunty chudai kahanisex kahani bhai bahanladki kaise chodeneelam ki chudaixxx biwisex hindi story antarvasnadidi ko kaise choduhind sax storifree hindi sex photopagal sasur ne chodabahan ki chut ki chudaibhabhi ki behangaon ki nangi chutfree hindi porn storiesdidi ki chudai hindi sexy storymastani bhabhimast sexy storyhindi hot comnangi bhabhi auntybhayanak chudai ki kahaniantrvasna hindi sexy storysavita bhabi sexy storybete ne maa ko choda hindi storysex hindi schoolrekha ki chuchimastram ki chudai hindinew hindi chudai ki kahanisuhagrat real storysex kahani girlvarsha ki chutbhabhi ki gand ko chodalong and hard fuckchudai ki kahani behanbhabhi ki gand mari storyiss storiesbhabhi ki pyasi chootbhabhi ki chudai ki kahani hindi mainbhauja com 2017best romantic sexchudai ki kahani sunoland chut hindi storysasur ne choda hindichudai ki best kahanituta dilxxx medamchudai hindi sex storyclass room me chudaimom ki chudai sex storyindian porn bhabhidesi bhaujanew hindi xxx storysexy khani hindihot story chudai kibhabhi ko choda hindi sexy storybest indian sex storytellerhindi hot rapesex story of mamiindian bhabhi ki chudai kahanipunjabi ladkikuwari ladki ki chudai hindi mefree sex stories in hindichachi ki chudai hot storyindian girl hindi sex storybhai bahan ki chudai hindi kahanisexi kahani hindi mebhabi ki chudigand chut sexhindi chut land ki kahaniyahindi adult xxx storiesgandi story with photoskhala ki chudai ki kahanihindi sex story girlraat ka sex