Click to Download this video!

सुन्दर मकान मालकिन भाभी को जम कर चोदा


हैल्लो दोस्तों, मेरा नाम शाश्वत है और मैं 24 साल का हूँ | मैं दिल्ली पालिका बाजार में रहता हूँ और मैं मैकेनिकल इंजीनियर हूँ | मैं दिखने में स्मार्ट हूँ और गोरा हूँ पर मैं बहुत सीधा सादा लड़का हूँ | मेरा लंड 7 इंच लम्बा और 4 इंच मोटा है मैंने खुद नापा है अपने लंड को | आप सभी ने ध्यान दिया होगा कि जितने भी स्टोरी लिखने वाले होते हैं वो लड़कियों और भाभियों को इम्प्रेस करने के लिए अपना साइज़ ज्यादा बताते हैं पर मेरा यकीन करना क्यूंकि ये मेरा रियल साइज़ का लंड है | मुझे सेक्स स्टोरीज पढना बहुत अच्छा लगता है और मैं रोज सेक्स स्टोरीज पढता हूँ | आज मैंने सोचा की क्यूँ न मैं भी अपनी एक घटना को आप सभी के सामने प्रस्तुत करू वैसे तो मैं बहुत पहले ही अपनी स्टोरी बताने वाला था पर मुझे टाइम नहीं मिल पा रहा था अपनी स्टोरी लिखने का | लेकिन आज मुझे टाइम मिला तो सोचा की स्टोरी लिख ही देता हूँ | अब मैं आप लोगों को अपनी घटना के बारे में बताता हूँ |

ये बात पिछले साल की है जब मैं अपनी पढाई के आखिरी पडाव पर था | तब मैं दो कमरे का फ्लैट ले कर रहता था | और मेरे साथ उस फ्लैट में हम 3 बन्दे रहते थे | और जो दो कमरे में थे उसमे 55 साल की बुढिया, 36 साल के भैया, 32 साल की भाभी और उनके 1 बच्चा रहते थे | जो भाभी रहती थी उनका फिगर एक दम कातिलाना था 34-30-36 का | अब आजू बाजू रहते थे तो मेरी उनके पति से अच्छी खासी दोस्ती हो चुकी थी और हम लोग बहुत मस्ती भी किया करते थे | भाभी काफी ओपन माइंडेड थी तो वो हर चीज़ समझती थी और हम लोग बच्चे थे तो सबके साथ हंसी माजक किया करते थे | कुछ समय तक तो मैंने कभी नही सोचा था  भाभी अपने पल्लू को जान बूझ कर दिखा रही है या कुछ भी एसा नहीं होता था जिससे ये लगता की हमारे मन में कुछ गलत है या भाभी के मन में सब अच्छा खासा चल रहा था | ज्यादातर मैं ही घर में रुकता था और भाभी भी मुझसे ही ज्यादा बाते किया करती थी क्यूंकि मेरे दोस्तों को तो बस घूमने से मतलब था | अब धीरे धीरे भाभी मेरी तरफ ज्यादा ध्यान देने लगी थी उसे मेरी हर बाते सुनना बड़ा अच्छा लगने लगा था और मेरे सामने वो अब जान बूझ कर कभी अपनी साडी का पल्लू गिरा देती और मुझसे सट सट कर निकलने लगी थी और अपनी गांड मटका मटका चला करती थी | वो पूरी तरह से मुझे पटाना चाहती थी ऐसा मुझे लग रहा था पर मैं तब भी यही सोचता था कि भाभी से ये सब धोके से हो रहा है |

फिर एक दिन हम ऐसे ही नॉर्मली बात कर रहे थे तो वो अचानक से पूछ बैठी कि तेरी गर्लफ्रेंड कौन है ? तो मैंने कहा भाभी कोई नही है मेरी गर्लफ्रेंड आप ऐसा क्यूँ पूछ रहे हो ? तो वो बोली अरे तू इतना स्मार्ट दिखता है गोरा भी है कोई तो होनी चाहिए न तेरी गर्लफ्रेंड ? तो मैंने कहा अरे नहीं है भाभी सच में मैं झूट नहीं बोल रहा हूँ | फिर उन्होंने कुछ नहीं कहा और बस हम आपस में ऐसे ही बात करने लगे | फिर उसके अगले दिन भाभी कपडे धो रही थी और उन्होंने डीप गले का ब्लाउज पहना हुआ था जिसमे से उनके बड़े बड़े दूध बाहर दिख रहे थे | भाभी ने मुझे अपने दूध देखते हुए देख लिया था (आखिर मैं भी एक लड़का हूँ ये सब देखने की मुझे इच्छा होती है आज तक कभी तो चूत मिली नहीं थी | )

फिर भाभी ने मुझसे कहा कि क्यूँ शाश्वत दूर से बस देखता ही रहेगा या कुछ करेगा भी | तो मैंने कहा अरे भाभी मन तो कर रहा है पर डर रहा था की कहीं आप गुस्सा न हो जाओ | तो वो बोली अरे बस कर अब आजा और करले अपने मन की मुरादे पूरी | फिर मैं भाभी के पास जाकर उनके दूध को दबाने लगा और ऐसा करते करते मेरा लंड भी खड़ा हो गया था | मैंने भाभी के जब दूध को मसलना चालू किया तब भाभी आआहा उन्न्न्हह आहाहा ऊउम्ह्ह्ह हह्हहः हाहाहा और जोर से दबा शाश्वत कितना अच्छा लग रहा है तेरा ऐसा करना हाय | आहाहाहा इऊउन्न्ह्ह ऊऊह्ह्ह्ह अनाअनाआह कितने अच्छे से दबा रहा है रे | फिर मैंने बोला अरे भाभी आप तो बस मौका दो तुम्हे जन्नत की सैर न करा दी तो बोलना | तो वो बोली अभी तू बस इसी से काम चला क्यूंकि अगर तेरे दोस्तों ने या मेरे पति ने आकर देख लिया तो शामत आ जायगी | फिर मैंने कहा कि अब कब दोगी भाभी मौका मुझे | मेरा लंड तो तुम्हारी याद में परेशान रहता है और तुम्हे याद करके रोज मुठ मरना पड़ता है | तो वो बोली तू चिंता न कर बहुत जल्दी मौका मिलेगा | फिर मैं अपने फ्लैट में आ आ गया और बस फिर क्या था बाथरूम में गया और उसके नाम की मुठ मारी |

एक हफ्ते के बाद मेरी किस्मत ही चमक गई थी कॉलेज की छुट्टियाँ पड़ गई थी और मेरे दोनों दोस्त अपने अपने घर चले गये थे और भाभी के पति और उसकी दादी को अमरनाथ यात्रा पर जाने वाले थे | बस फिर क्या था मुझे भी इसी मौके की तलाश में था और भाभी भी | अब होना था चुदाई का नंगा नाच | जैसे ही वो लोग अमरनाथ यात्रा के लिए निकले भाभी ने मुझे अपने फ्लैट बुला लिया और मैं तो खुल्ला सांड बन के बैठा ही था | उन्होंने जैसे ही बुलाया और मैं झट से उनके घर चला गया | जाते ही साथ मैंने भाभी की कमर पकड़ के उन्हें दीवार पर टिका दिया और उन्हें किस करने लगा भाभी तो हमेशा गर्म ही रहती थी तो वो भी मेरा साथ देने लगी और हम दोनों एक दूसरे को पागलों की तरह किस कर रहे थे |  मैं भाभी के चेहरे को बुरी तरह से चूमते जा रहा था और भाभी मेरे चेहरे को | मैंने भाभी से कहा तेरे लिए कितना बेताब था मैं अब जा कर तू मुझे मिली | आज तुझे कराऊंगा जन्नत की सैर फिर वो बोली हाँ सब तेरा ही है करले जो करना है तुझे | फिर से हम दोनों ने एक दूसरे को चूमना चालू कर दिया |

भाभी ने मुझसे कहा राजा बस तू चूमता ही रहेगा या आगे भी बढेगा | फिर मैं भी के पीछे आ कर खड़े हो गया और भाभी की गांड में अपना लंड घुसाने लगा और सामने हाँथ करके उसके दूध दबा रहा था और उसकी गर्दन में किस कर रहा था | भाभी आअहहाआ ऊउम्म्ह्ह ऊउन्न्ह अहहहाआ अहाहा ऊउम्म्ह्ह आअहौउम्म्ह कर रही थी | फिर मैंने भाभी की साडी उतार दी वो अब बस ब्रा और पेन्टी में थी फिर मैंने ब्रा और पेन्टी भी उतार दी और उन्हें बिस्तर में लेटा दिया | अब मैं भाभी के दूध मजे से चूस रहा था | भाभी के दोनों दूध में एक साथ मुंह में ले कर चूस रहा था और भाभी बस अहाहहहः अहहहहहब अहहहहः अहहहः अहहहः अहाहा औऊंनंह उऊंन्ह्ह ऊउम्म्झ्ह अहहहः अहहहह्हाआआ कर रही थी | भाभी मेरे इतना करने पर ही एक बार झड गई थी | 10 मिनट तक उनके दूध पीने के बाद भाभी ने मेरे कपडे उतारे और मुझे नंगा कर दिया | भाभी मेरा खड़ा लंड देख के बहुत खुश हो गई और कहने लगी की शाश्वत तेरा लंड तो बहुत बड़ा और मोटा है रे जो भी तुझसे चुदेगी उसे तो सही में जन्नत ही नसीब होगी | तो मैंने कहा हाँ जो फिलहाल में तुझे ही होगी | फिर भाभी मेरा लंड चूसने लगी वो हर जगह छु रही थी और चाट रही थी और मैं अहहहहहाह अहहहः अहहहः आह्ह्हा अहहः अहहः अहहाह कर रहा था | भाभी ने मेरा लंड 15 मिनट तक चूसा था | फिर मैंने भाभी को बैठा दिया और भाभी की चूत में एक जोरदार झटका मार कर पूरा लंड अन्दर घुसा दिया भाभी की चीख निकल गई थी जैसे ही मेरा लंड उसकी चूत में गया | फिर मैं भाभी को जोर जोर से चोदने लगा और भाभी मजे ले ले कर चुदवाने लगी और वो वो बहुत जोर जोर से सिस्कारियां भर रही थी अहाहहह्हा अहहह्हहहह्हा आहाहहः अहहहहहः अहहह्हः अहहहः आहाह्हा अहहहा  अहहहह्हाहा अहहहा अहः कर रही थी |  आधे घंटे की चुदाई के बाद मैंने भाभी की कुंवारी गांड भी मारी थी | 8 दिनों तक मैंने भाभी को खूब चोदा था और अब तो भाभी को मेरा ही लंड पसंद आता है जब भी मौका मिलता है हम खूब चुदाई करते हैं |

तो दोस्तों ये थी मेरी कहानी और एक दम सच्ची घटना | उम्मीद करता हूँ की आप लोगो को मेरी ये कहानी पसंद आई होगी | और मैं वादा करता हूँ की आपके मनोरंजन के लिए रोज नयी नयी कहानिया उजागर करू |


error:

Online porn video at mobile phone


sex story hindi chudaisasur bahu chudai hindichodai ki khaniyandesi bhabhi chudai kahanimusalmano ka sexdesi sex callkahani chudai ki hindisex story sexhindi story sexy videonew sexy storys in hindistudant sexteacher ki chut maarimosi ki chut marihindi family sex storysex story book in hindi pdfbhabhi ke boobsnangi storyrape ki kahanidesi baba fuckhindi adult blue movieindian bhabhi for sexaunty ki chut chudaibachpan ke dinfamily ki chudaiwife group sex storieshot sexi storykutte se chudwayabhabhi ki chudai sex story hindimosi sex storypurnima sexmausi ki beti ki chudaiindian chut lundsavita bhabhi ki chudai story hindichoot pictureaunty ki chudai latestchuchi storyteacher ko jamkar chodabhai bahan sex hindi storyhindi chudai ki khaniyamami ki sex story in hindidesi sex babihindi sex story realकरdesi vergin girlhindi marathi sex kathawww indiansexstories inhindi ladki ki chudai videohindi saxi kahanisari ki chudaichut ki jankari hindi mechut ki kathabhabhi ke sath chodaladki ki chodne ki photosuhagraat sexmama ke ladki ki chudaiaanti ki chudai storybhabhi ki chodai ki kahanisexy girl ki chootindian dadi sexhot adult story in hindimast mast bhabhiindian bhabhi ki chudaichudail ki kahani with photomaa bete ki chudai ki photonew hindi sex kathahindi marathi sex kathaladki ki sealpopular sex story in hindisasur or bahu ki chudai storychut ki chudai ki kahani in hindi